कानपुर जनपद में भगवान जगन्नाथ का एक ऎसा मंद&#

Mantra

कभी कभी मौसम विभाग की भी भविष्यवाणी गलत निकल जाती है और समय से बरसात नहीं आने के कारण या पता नहीं लगने के कारण उनकी फसल को लेकर की गई तयारी धरी की धरी रह जाती है। ऎसे में उत्तर प्रदेश का एक मंदिर बरसात का संकेत देने के लिए पिछले कई सालों से चमत्कार दिखा रहा है।
आज देश में किसान सूखे का मार झेल रहा है। बरसात को लेकर किसान यही असमंजस में रहता है कि पता नहीं कब बरसात होगी और हम फसल को लेकर तैयारी करेंगे। उनको यह पता नहीं चल पाता कि कब बरसात होगी कब नहीं ऎसे में मौसम विभाग की सूचना पर ही भरोसा कर अपनी फसल उगाने की तैयारी करता है।

यह मंदिर सात दिन पहले बता देता है कि बरसात कब आएगी जिससे किसानों को अपनी फसल की तैयारी करने में मदद मिल जाती है। जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में भगवान जगन्नाथ का एक ऎसा मंदिर है,

जिसकी छत बारिश होने के पहले ही टपकने लगती है। इसमें भी एक खासियत यह है कि टपकी बूंदे भी उसी आकार की होती हैं, जैसी बारिश होनी होगी। तमाम सर्वेक्षणों के बाद भी इसके निर्माण का सही समय पुरातत्व वैज्ञानिक नहीं लगा सके हैं। बस इतना ही पता लग पाया कि मंदिर का अंतिम जीर्णोद्धार 11 वीं सदी में हुआ था।

Vidhi